महत्‍त्‍वपूर्ण आलेख

रविवार, 16 मार्च 2014

बच्‍चों की होली


ये दृष्टिबाधित बच्‍चे होली खेलते हुए कितने निर्मल लग रहे हैं! इनकी भावनाएं कितनी रंग-रंगीली हैं! इनके आत्‍मविश्‍वास को मानना पड़ेगा कि ये वसंत के चरम को आंखों से देख नहीं पा रहे हैं फिर भी उसे आंखोंवालों से भी ज्‍यादा अनुभव कर पा रहे हैं। इनकी प्रसन्‍नता होली के रंगों के साथ मिलकर कितनी रंगीली हो गई है!









17 टिप्‍पणियां:

  1. इन बच्चों की मुस्कान देखकर लगता है कि रंगों का स्पर्श ही इन्हें बड़ा मधुर और अच्छा लग रहा है.वातावरण खुशनुमा हो गया होगा इनकी खिलखिलाहट सुनकर!
    ..मुझे यहाँ सालों हो गए इस त्यौहार के रंग देखे हुए...टी वी और नेट पर ही होली देखते हैं.

    आपको भो होली की शुभकामनाएँ.

    उत्तर देंहटाएं
  2. विकेश जी ,सचमुच त्यौहार का सही आनन्द बच्चों या बच्चों जैसी भावनाओं के साथ ही मिलता है । आपको भी सपरिवार होली की हार्दिक शुभकामनाएं ।

    उत्तर देंहटाएं
  3. आपको भी सपरिवार होली की हार्दिक शुभकामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  4. लीक से हटकर आपका होली पर यह पोस्ट बहुत अच्छा लगा. रंगारंग होली की शुभकामनायें!

    उत्तर देंहटाएं
  5. होली के रंग दिल से दिल तक अपनी पहचान करा देते हैं ... बहुत अच्छे लगे ये चित्र ...
    आपको और परिवार में सभी को होली कि हार्दिक बधाई ...

    उत्तर देंहटाएं
  6. यही है सच्चा रूप होली का
    निर्मल होली.

    उत्तर देंहटाएं
  7. बहुत सुंदर पोस्ट.... होली की शुभकामनाएं....

    उत्तर देंहटाएं
  8. वाह...सुन्दर और सामयिक पोस्ट...
    आप को होली की बहुत बहुत शुभकामनाएं...
    नयी पोस्ट@हास्यकविता/ जोरू का गुलाम

    उत्तर देंहटाएं
  9. सच में त्यौहार का आनंद लेने के लिए बच्चों जैसा मन होना बहुत ज़रूरी है..होली की हार्दिक शुभकामनायें!

    उत्तर देंहटाएं
  10. मासूम होली .....बहुत सुंदर
    होली की शुभ कामनाएं...

    उत्तर देंहटाएं
  11. मासूम होली .....बहुत सुंदर
    होली की शुभ कामनाएं...

    उत्तर देंहटाएं
  12. यह सरल-सजल मुक्त उल्लास -मन को मुदित कर गया!

    उत्तर देंहटाएं
  13. काश इनकी कल्पनाओं और आशाओं में ईश्वर जीवन के रंग भर दे।

    उत्तर देंहटाएं
  14. त्यौहारों का असली मज़ा तो बच्चे ही लेते हैं......सुंदर प्रस्तुति..होली की शुभकामनाएँ

    उत्तर देंहटाएं

Your comments are valuable. So after reading the blog materials please put your views as comments.
Thanks and Regards